Mushroomex

Mushroom Powder

क्या आप दुबलेपन से परेशान हैं? क्या आपका शरीर काफी कमजोर है? तो अब आपकी चिंता खत्म क्योंकि हम आपके लिए लाये हैं एक जादुई प्रोडक्ट

Mushroomex

“Mushroom Weight gaining Powder” के सेवन से पाचन तंत्र स्वस्थ हो जाता है जिससे भूख बड़ती है तथा खाया गया भोजन आसानी से पच कर शरीर के लिये उर्जा तैयार करता है। मशरूम में मौजूद फॉलिक एसिड आपके शरीर में नये रक्त का निर्माण करता है जो कि आपको रक्त की कमी (एनीमिया) जैसी गंभीर बीमारी से बचाता है।

Mushroom World Presents Mushroomex

Mushroom Powder

A miraculas weight gaining Powder

“Mushroomex Mushroom Powder” मशरूम से निर्मित देश का सबसे अधिक बिकने वाला वेट गेनिंग पावडर है जो कि 50 लाख़ से अधिक लोगों द्वारा आज़माया गया एक चमत्कारिक उत्पाद है।मशरुमेक्स दुबले व्यक्ति के शरीर में पहुंचकर टूटी हुई कोशिकाओं की मरम्मत करता है व नई कोशिकाओं का निर्माण बहुत तेज़ी से करता है। मशरूम आयुर्वेद के बहुमूल्य रत्‍नों में से एक माना जाता है। मुख्यतः मशरूम एक प्रकार का औषधिय कवक है जो विचित्र औषधिय गुणों से परिपूर्ण भी है।

सबसे उच्च प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों में से एक

मशरूम एक ऐसा शब्द है जो सदैव ही लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता रहा है। सदियों तक यह औषधि हकीमों के लिये एक रहस्य बनी रही।फिर समय के साथ आयुर्वेद विज्ञान ने इस रहस्य पर से पर्दा हटाना शुरू किया और तब हम जान सके कि आयुर्वेद में “क्षत्रक” के नाम से वर्णित इस औषधि को क्यों प्राचीनकाल में ऋषि-मुनि “जादुई फूल” कह कर पुकारा करते थे। क्योंकी असाध्य रोगों के उपचार के लिये मशरूम की सही प्रजाति की खोज में जंगल-जंगल भटकते थे। अब प्राचीन ग्रंथों में वर्णित इन तथ्यों को वैज्ञानिक शोधों ने भी सिद्ध कर दिया है।

Mushroomex Mushroom Powder

वजन बढ़ाने के लिए चमत्कारिक औषधि है

मशरूम में प्रचुर मात्रा में “फॉलिक एसिड” पाया जाता है जो शरीर में रक्त की कमी को दौर करता है ओर अनिमिया जैसे धातक रोग से बचाता है। मशरूम में थाईमिन , नायलिन, बायोटिन, विटामिन K और विटामिन E भी बड़ी मात्रा में पाया जाता है जो शरीर के स्वस्थ रहने के लिये अत्यावश्यक है। साथ ही मशरूम में फायबर की प्रचुर मात्रा पायी जाती है पाचन तंत्र को सुचारू रूप से चलने के लिये आवश्यक होती है। विश्व में पिछले 20 वर्षों में मशरूम की मांग उतनी तेज़ी से बड़ी हैं जितनी तेजी से पिछले 300 सालों में भी नहीं बड़ी हैं।